मुंहासे पर क्या खाएं, क्या न खाएं और रोग निवारण में सहायक उपाय

मुंहासे – Pimples

मुंहासे मुख सौंदर्य के सबसे प्रबल शत्रु हैं, जिनसे युवक-युवतियां काफी परेशान रहते हैं। किशोरावस्था की समाप्ति और युवावस्था के आरंभ में युवकों और युवतियों मैं एस्ट्रीन्जेंट हारमोंस के कारण त्वचा की ग्रंथियों का स्राव होकर रोम छिद्रों को बंद कर देता है, जिससे त्वचा की कोशिकाओं में ऑक्सीजन का आदान-प्रदान अवरुद्ध हो जाता है। इससे मुंहासों की उत्पत्ति होती है।

कारण : मुंहासे उत्पन्न होने के प्रमुख कारणों में युवावस्था के हार्मोन्स की अधिकता, पेट खराब रहना, खून के विकार, मिर्च-मसालेदार, खटाई युक्त चीजों का अधिक सेवन, त्वचा का गंदा रहना, सौंदर्य प्रसाधनों का अधिक प्रयोग, विटामिन ए की कमी, चिकनाई वाले खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन, वासना की अतृप्ति, हस्तमैथुन, कामोत्तेजक साहित्य पढ़ना, उत्तेजक फिल्में देखना, गर्भाशय की खराबी, मनोविकार, मल-मूत्र के वेगों को रोकना, अधिक मीठे पदार्थों का सेवन मासिक धर्म की खराबी, उत्तेजक पेय चाय, कॉफी, शराब का अधिक सेवन आदि होते हैं।

Loading...

लक्षण : इस रोग के लक्षणों में चेहरे पर छोटी-छोटी फुंसियां निकलकर गांठों में परिवर्तित हो जाती हैं। पहले लाल रंग की होती हैं, जो दर्द करती हैं और धीरे-धीरे बढ़ती हैं, फिर उनमें पीप पड़ता है, जिससे वे सफेद होकर फूट जाती हैं। मुंहासे फूटने पर कील निकलती है, फिर आराम मिलता है, लेकिन फुंसियों के सूखने पर काले निशान बन जाते हैं, जो भद्दे लगते है। इनके अतिरिक्त कब्ज, मुंह से दुर्गंध, जीभ पर मैल आदि देखने को मिलते हैं।

What to eat during Pimples?

क्या खाएं

  • सुपाच्य, हलका, संतुलित आहार करें।
  • अंकुरित गेहूं, चना, मूंग, मसूर, अरहर की दाल का सेवन करें।
  • खट्टे-मीठे फलों में आम, अंगूर, पपीता, सेब, नारंगी, संतरा, नीबू खाएं।
  • सब्जियों में टमाटर, गाजर, मूली, पालक, सरसों, शलगम, फूल गोभी, पत्ता गोभी, ककड़ी, चौलाई का सेवन करें।
  • दूध, दही, मट्ठा, पनीर, श्रीखंड, मूंगफली, बादाम, पिस्ता, काजू खाएं।

What not to eat during Pimples?

क्या न खाएं

  • तली, मिर्च-मसालेदार, चटपटी, गरिष्ठ चीजें न खाएं।
  • सफेद चीनी और मैदे से बनी चीजें, मिठाइयां न खाएं।
  • उत्तेजक चीजें चाय, कॉफी, मांस, मछली, शराब, अंडे, तंबाकू से परहेज करें।
  • चॉकलेट, बिस्कुट, पेस्ट्री, अचार, कोल्ड ड्रिंक्स, घी, मक्खन न खाएं।

Remedial Measures in Pimples Prevention.

रोग निवारण में सहायक उपाय


What to do during Pimples?

क्या करें

  • चेहरे पर भाप लें सोते समय गर्म पानी से मुंह धोकर तोलिए से रगड़ें।
  • रुई से बोरिक लोशन लेकर पकी की कील को धीरे-धीरे पोंछ कर निकालें।
  • सूर्योदय से पूर्व घूमने जाएं। शवासन, पद्मासन नियमित करें।
  • सोने से पूर्व चेहरे पर जैतून का तेल या दूध की मलाई या जायफल को दूध में घिसकर बने पेस्ट को रोजाना लगाएं।
  • सुबह-शाम शौच जाएं। कब्ज दूर करें।
  • प्रसन्न, चिंता मुक्त रहते हुए रात्रि में नींद पूरी लें।

What not to do during Pimples?

क्या न करें

  • फुंसियों को हाथ से फोड़ें नहीं।
  • सेक्सी साहित्य न पढ़ें और न ऐसी फिल्में भी न देखें।
  • चेहरे पर तरह-तरह के क्रीम, पाउडर का प्रयोग न करें।
  • दिन में न सोएं। रात्रि में जागरण न करें।
  • चिंता, मानसिक तनाव व धूम्रपान से बचें।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept