Browsing Tag

बुखार

निमोनिया पर क्या खाएं, क्या न खाएं और रोग निवारण में सहायक उपाय

निमोनिया – Pneumonia बच्चों और बूढ़ों में इम्यूनिटी कम होने के कारण उन्हें यह रोग जल्दी हो जाता है। यों तो निमोनिया किसी को भी संक्रमण के कारण हो सकता है। इस रोग में फेफड़ों के अंदरूनी हिस्सों में संक्रमण के कारण सूजन आ जाती है और भीतर के…
Read More...

ज्वर । बुखार पर क्या खाएं, क्या न खाएं और रोग निवारण में सहायक उपाय

ज्वर । बुखार – Fever संसार में सबसे ज्यादा पाई जाने वाली तकलीफ ज्वर ही है, जो कभी भी, किसी को भी, किसी भी मौसम में हो सकता है। शरीर का तापमान जब 98.4 डिग्री फारेनहाइट या 36.8 डिग्री सेंटीग्रेड से अधिक हो जाए, तो समझें कि ज्वर हो गया है।…
Read More...

इनफ्लुएंजा । फ्लू पर क्या खाएं, क्या न खाएं और रोग निवारण में सहायक उपाय

इनफ्लुएंजा । फ्लू – Flu यह रोग प्रायः शीत या बसंत ऋतु में अधिक होता है। फ्लू रोग 'बेसिलस इनफ्लुएंजा' विषाणु के संक्रमण से फैलता है। लक्षण : अचानक सर्दी लगना, कुछ घंटों में ही ज्वर 102-103 डिग्री फा. होना, सारे शरीर की मांसपेशियों में…
Read More...

आन्त्रिक ज्वर । टायफाइड पर क्या खाएं, क्या न खाएं और रोग निवारण में सहायक उपाय

आन्त्रिक ज्वर । टायफाइड - Typhoid fever यह ज्वर धीरे-धीरे प्रकट होकर 4-5 हफ्ते तक चलने वाला विशिष्ट रोग है, जो मुख्यतया सालमोनेला टाइफी जीवाणु के संक्रमण के कारण होता है। कारण : टायफाइड संक्रमित भोजन, दूध, पानी, बर्फ, आइसक्रीम आदि के…
Read More...

आंत्र ज्वर । मियादी बुखार का घरेलू इलाज

आंत्र ज्वर । मियादी बुखार – Typhoid Fever ~ Enteric Fever What is the cause of Typhoid Fever? आंत्र ज्वर होने का कारण क्या है। इसे मन्थर ज्वर, आन्त्र ज्वर, मोतीझारा इत्यादि नामों से भी जाना जाता है। इस रोग में लगातार कई दिनों तक…
Read More...

ज्वर का घरेलू इलाज

ज्वर – Fever What is the cause of Fever? ज्वर होने का कारण क्या है। शरीर का तापमान सामान्य अवस्था में (98.6° फारेनहाइट या 37° सेंटीग्रेड) से बढ़ना ज्वर का सूचक है। वात, पित्त और कफ़ दोषों की न्यूनाधिकता के आधार पर आयुर्वेद में ज्वर…
Read More...

शीतज्वर । विषमज्‍वर । मलेरिया का घरेलू नुस्खे

Malaria Natural Remedies In Hindi वर्षा के बाद जब घरों के आसपास बने में पानी सड़ने लगता है तो मच्छर उस पानी में अंडे देते हैं। उन मच्छरों में एनाफिलीज मादा मच्छर के काटने से मलेरिया रोग होता है। मलेरिया रोग कभी-कभी संक्रामक रूप में भी…
Read More...

वात श्लैष्मिक ज्वर । फ्लू का आयुर्वेदिक उपचार

Influenza ~ Flu Home Remedies In Hindi वात श्लैष्मिक ज्वर अर्थात इंफ्लूएंजा जीवाणुओं के संक्रमण से संक्रामक रूप में फैलने वाला रोग है। घर या ऑफिस में किसी एक व्यक्ति को हो जाने पर शीघ्र ही अन्य व्यक्ति इस रोग के शिकार हो जाते हैं। Why…
Read More...

निमानिया । फेफड़ों की सूजन। न्यूमोनिया का घरेलू उपचार

Pneumonia Natural Cure In Hindi शीत ऋतु में शीतल खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन और शीतल वायु के प्रकोप से किशोर आयु के बच्चे न्यूमोनिया से अधिक पीड़ित होते हैं। फेफड़ों में शोथ के कारण पसली चलने की विकृति होती है। Why does Pneumonia happens?…
Read More...

आंत्रिक ज्वर । टायफाइड का घरेलू नुस्खे

Typhoid Fever Natural Remedies In Hindi आंत्रिक ज्वर को जन साधारण में मोतीझरा, मियादी बुखार, मौक्तिक ज्वर आदि अनेक नामों से संबोधित करते हैं। आंत्रिक ज्वर 1 सप्ताह से 4 सप्ताह तक चलता है, इसलिए इसको मियादी बुखार भी कहा जाता है। आंत्रिक…
Read More...

ज्वर । ताप । बुखार का आयुर्वेदिक उपचार

Shivers ~ Pyrexia ~ Fever Home Remedies In Hindi किसी ऋतु के परिवर्तन के समय आहार-विहार में थोड़ी-सी लापरवाही होने पर ज्वर की उत्पत्ति होती है। शीत ऋतु में शीतल वायु के प्रकोप से छोटे-बड़े ज्वर से पीड़ित होते हैं। ज्वर के कारण शरीर का ताप बढ़…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept