पेचिश के घरेलू उपाय (Home remedies for dysentery)

पेचिश के घरेलू उपाय

पेचिश पाचन तंत्र में उत्पन्न होने वाला रोग है जिसमें आपको बिल्कुल डायरिया(दस्त) जैसी समस्या देखने को मिलती है। पेचिश में सुबह मल त्यागने के समय खून आने जैसी समस्या भी उत्पन्न होने लगती है। अगर समय रहते इसका इलाज ना किया तो यह आपकी जान भी ले सकता है। पेचिश अक्सर भूख ना लगना पेट दर्द और पाचन तंत्र से जुड़ी समस्याओं के साथ शुरू होता है। मल के ऊपर बैठने वाली मक्खियों के भोजन पर बैठने पर वह भोजन में जीवाणु को छोड़ देती है, जब इंसान उस भोजन का इस्तेमाल करता है तो वह जीवाणु उसके शरीर में चले जाते हैं जिससे पेचिश डायरिया(दस्त) जैसी समस्या उत्पन्न होने लग जाती है। पेचिश के उत्पन्न होने के और भी कई कारण हैं।

Loading...

आज की जानकारी में हम आपको बतायेंगे कि पेचिश ठीक करने वाले घरेलू उपायों एवं तरीकों के बारे में जो पेचिश की समस्या से छुटकारा पाने के लिए काफी फ़ायदेमंद है।

पेचिश से छुटकारा पाने के लिए छाछ है फ़ायदेमंद

छाछ आपके पाचन तंत्र को मजबूत करता है। छाछ के अंदर एसिटिक एसिड की काफी अधिक मात्रा पायी जाती है जो पेचिश को उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करता है। छाछ सूजन को कम करने के लिए काफी उपयोगी है। आप एक ग्लास छाछ में आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर, एक चम्मच जीरा पाउडर, और स्वादानुसार सेंधा नमक डालकर इसका उपयोग कर सकते हैं। पेचिश की समस्या से छुटकारा पाने के लिए संतरे का जूस पीना काफी फ़ायदेमंद होता है।

पेचिश के उपचार के लिए करें निम्बू का उपयोग

निम्बू , शरीर के अंदर मौजूद बैक्टीरिया और जीवाणुओं को मारने में सहायता करता है। साथ ही निम्बू पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाता है। एक ग्लास गर्म पानी में निम्बू और सेंधा नमक मिलाकर पीने से काफी फायदा पहुँचता है।

पेचिश के उपचार में करें गाजर का इस्तेमाल

गाजर हमारे पाचन तन्त्र को ठीक करता है। गाजर में बैक्टीरिया को खत्म करने वाले तत्व होते हैं। साथ ही यह हमारे शरीर में पनपने वाले अशुद्ध पदार्थ को शरीर से बाहर करता है। रोज सुबह गाजर का जूस पीने व भोजन में काली मिर्च के साथ गाजर का सेवन करने से पेचिश की समस्या से छुटकारा मिलता है।

पेचिश की समस्या होने पर कीजिए दही का उपयोग

पेचिश की समस्या को ठीक करने के लिए दही का इस्तेमाल काफी समय से किया जा रहा है। इसमें आपको बस इतना करना है कि एक ग्लास दही में हल्का सा पानी मिलाकर, उसमें हींग पाउडर, हल्दी और मीठा नीम मिलाकर इसका सेवन करें। हल्दी में बैक्टीरिया को मारने का गुण पाया जाता है। साथ ही हल्दी पाचन क्रिया को भी ठीक करता है एवं इंफेक्शन से भी बचाता है। मीठा नीम आपके अंदर मौजूद खतरनाक जीवाणुओं को मारने में मदद करता है जो हमारे शरीर में पेचिश को उत्पन्न करने का कारण बनते हैं।

पेचिश की समस्या में दूध और निम्बू को मिलाकर पीजिए

ठंडे दूध में निम्बू मिलाकर इसका सेवन करने से पेचिश की समस्या को जल्द से जल्द दूर किया जा सकता है।

पेचिश की समस्या को दूर करने के लिए कीजिए अदरक का सेवन

अदरक पाचन तंत्र से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर करता है। अदरक में मौजूद तत्व बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए काफी फ़ायदेमंद होते हैं। छाछ के अंदर अदरक पाउडर मिलाकर इसका सेवन करने से पेचिश को जड़ से मिटाया जा सकता है। साथ ही आप अदरक में सेंधा नमक डालकर इसको चूस के भी इसका सेवन कर सकते हैं।

पेचिश को दूर करने के लिए कीजिए मेथी के बीज का उपयोग

मेथी के बीज पाचन तन्त्र को हानिकारक पदार्थ से बचाने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें कुछ ऐसे गुण भी मौजूद होते हैं जो शरीर से जीवाणुओ और बैक्टीरिया को मारकर शरीर को फिल्टर करने में सहायता करते हैं। आप मेथी के बीज के पाउडर को छाछ में डालकर भी इसका सेवन कर सकते हैं।

पेचिश के इलाज में कीजिए काली मिर्च का उपयोग

काली मिर्च पाचन तंत्र को अंदर से ठंडा करने में मदद करती है, जिससे पेट के अंदर होने वाली जलन खत्म हो जाती है। रोज़ाना 2-3 काली मिर्च को चूसने से पेचिश की समस्या में काफी राहत मिलती है।

पेचिश की समस्या से निपटने के लिए करें सेब के सिरके का उपयोग

सेब का सिरका शरीर के उन जीवाणुओं का नाश करता है जो पेचिश को पनपने में सहायता करते हैं। पानी के अंदर सेब का सिरका मिलाकर पीने से पेचिश की समस्या से काफी राहत मिलती है। साथ ही सेब को पीसकर उसमें काली मिर्च डालकर इसका सेवन खुराक के रूप में इसका उपयोग किया जा सकता है।

पेचिश की समस्या से निपटने के लिए करें पुदीने का उपयोग

पुदीना शरीर को ठंडा करता है, जिससे शरीर के अंदर की जलन खत्म होती है। पुदीने का इस्तेमाल हर्बल चाय के साथ कर सकते हैं। साथ ही आप पुदीने के रस में, निम्बू के रस और शहद मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं।

पेचिश के उपचार में करें केले का उपयोग

केले के अंदर सूजन को कम करने के तत्व पाए जाते हैं। केले के गुदे को पीसकर, छाछ मिलाकर इसका सेवन करने से पेचिश की समस्या में राहत मिलती है। कच्चे केले में जीरा और काली मिर्च को मिलाकर उसका सेवन करने से भी पेचिश की समस्या को कम किया जा सकता है।

पेचिश के उपचार में करें सौंफ का उपयोग

सौंफ पाचन तंत्र के रोगों को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है। रोज़ाना सौंफ और मिश्री के सेवन से पेचिश की समस्या से बचा जा सकता है।

 

अगर आपको ये जानकारी एवं लेख अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें ।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept