हड्डियों (आस्टियोपोरोसिस) की कमज़ोरी के घरेलू उपाय (Home remedies for osteoporosis)

हड्डियों (आस्टियोपोरोसिस) की कमज़ोरी के घरेलू उपाय

हमारे शरीर की हड्डियाँ बहुत सारे तत्वों से मिलकर बनती है, जिसमे मैग्नीशियम, प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, मिनरल्स आदि शामिल है। बुढ़ापे में हमारे शरीर के तत्वों में कमी आने लगती है। जिसकी वजह से हमारी हड्डियाँ कमजोर हो जाती है, लेकिन जवानी में यह समस्या आने लगे तो फिर आपको बहुत सी परेशानियों को झेलना पड़ सकता है। हड्डियों में पाए जाने वाले तत्वों में कमी की वजह से हड्डियों का घनत्व कम होने लगता है। हल्की सी चोट से भी हड्डी के फ्रैक्चर होने का खतरा हो सकता है। हड्डियों का कमजोर होने का पता आसानी से नहीं चलता है क्योंकि हड्डियों का कमजोर होना रातों-रात हो जाने वाली समस्या नहीं है। ये आपको कई सालों से शरीर पर ठीक प्रकार से ध्यान ना देने के कारण होता है। बदलते जीवन के साथ-साथ शरीर पर भी ध्यान देना होता है, वरना हड्डियाँ कमजोर हो सकती है। हड्डियों के कमजोर होने के लक्षण जैसे;- छोटी सी चोट से हड्डियों का फैक्चर होना, हड्डियों का खोखला होना, हड्डिया भुरभुरी होना, हड्डियों मे दर्द रहना आदि है। इंसान को बचपन से ही पोषक तत्व एवं कैल्शियम का भरपूर सेवन करना चाहिए। जिससे कि उन्हें भविष्य मे इस तरह की समस्या से परेशान ना होना पड़े। हड्डियों के कमजोर होने के बहुत से कारण हो सकते हैं, जिसमे मुख्य रूप से पोषक तत्व को ना लेना, धूम्रपान करना, शारीरिक रूप से मेहनत ना करना, किसी बीमारी का होना या कमजोर शरीर और वजन का कम होना आदि शामिल है।

Loading...

आज जो जानकारी हम आपसे शेयर करने वाले है, उसमे मुख्य रूप से आपको हड्डियों को मजबूत करने के उपायों एवं उनको उपयोग करने के तरीके के बारे मे बताया जाएगा जिससे आप घर पर ही कमजोर हड्डियों की समस्या से छुटकारा पा सकते हो।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करे आलू बुखारा का उपयोग

आलू बुखारा एक स्वादिष्ट फल है। जिसमे बोरोन और कॉपर अधिक मात्रा मे पाया जाता है, जो कि हड्डियों को मजबूत करने में काफी उपयोगी होता है। साथ ही आलू बुखारा मे कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते है, जो हड्डियों से जुड़ी हर प्रकार की समस्या को ठीक करने मे लाभदायक होते है। हड्डियों के कमजोर होने की समस्या होने पर रोज 3-4 आलू बुखारा का सेवन करना चाहिए।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करें सेब का इस्तेमाल

सेब के अंदर बोरोन की काफ़ी अधिक मात्रा पायी जाती है, जो की हड्डियों को मजबूत करने मे काफी लाभदायक होता है। साथ ही सेब मे कुछ ऐसे तत्व भी मौजूद होते है, जो हमारी मांसपेशियों को मजबूत करते है और हड्डी को मजबूत करने वाले तत्व प्रदान करते है। रोज सेब का छिलके सहित जूस बनाकर पीने से हड्डी की कमज़ोरी की समस्या से छुटकारा मिलता है।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करें नारियल तेल का उपयोग

नारियल मे बहुत से पोषक तत्व होते है, जो हड्डी मे होने वाली समस्याओं से छुटकारा दिलाते है। साथ ही हड्डियो मे कैल्शियम और मैग्नीशियम को बनने मे भी मदद करते है, इसके साथ ही तिल के तेल और नारियल तेल को भोजन के साथ प्रयोग करने से भी हड्डियाँ मजबूत बनती है। तिल और नारियल तेल से मसाज करने से भी हड्डियों को काफी फायदा पहुँचता है। नारियल तेल मे एंटी-आक्सिड़ेंट की मात्रा भी काफी अधिक होती है, जो कि हड्डियों के लिए काफी फ़ायदेमंद होता है।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करे बादाम के दूध का उपयोग

बादाम का दूध कैल्शियम का सबसे बड़ा स्रोत माना जाता है। दूध के अंदर कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम और वह सभी तत्व मौजूद होते है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने मे उपयोगी होते है। हड्डियों को मजबूत करने के लिए गाय और बकरी का दूध और भी ज्यादा फ़ायदेमंद होता है, क्योंकि इनमें अधिक मात्रा मे विटामिन D पाया जाता है। विटामिन D कमजोर हड्डियों मे ज्यादा लाभकारी होता है। इसके इस्तेमाल के लिए रात को पानी मे बादाम को गलाकर सुबह इसके छिलके निकाल कर इसे पीस ले, फिर एक ग्लास गर्म दूध मे पिसी हुई बादाम को डालकर रोज इसका सेवन करें। ध्यान रखें, गलाए हुए बादाम की मात्रा 10 से 11 होनी चाहिए।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करें तिल के बीज का उपयोग

तिल के बीज में मैग्नीशियम की काफी अधिक मात्रा पायी जाती है, साथ ही इसमे कॉपर, जिंक, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम जैसे तत्व भी मौजूद होते है, जो कि हड्डियों से जुड़ी हर तरह की समस्या को खत्म करते है। रोज़ाना सुबह तिल के भुने हुए बीज को खाने या दूध के साथ मिलाकर इसका सेवन करने से काफी फायदा होता है। तिल के तेल से मसाज करने से भी हड्डिया मजबूत बनती है। भोजन में आप तिल के तेल का इस्तेमाल करके भी इसका सेवन कर सकते हो।

हड्डीयों को मजबूत करने के लिए करें मछली के तेल का उपयोग

मछली का तेल मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए बहुत उपयोगी होता है। मछली के तेल के सेवन के लिए आप ओमेगा 3-फैटी एसिड का सप्लीमेंट ले सकते हो, यह हमारे बाल एवं हड्डी को मजबूत करने मे उपयोगी होता है। मछली के तेल मे विटामिन D पाया जाता है, जो की शरीर की मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत करने के लिए बेहद जरूरी होता है। मछली का तेल में विटामिन D और A की मात्रा काफ़ी अधिक होतीे है, और साथ ही इसमें कैल्शियम, मैगनीज, ब्रोमिन और आयरन जैसे तत्व भी मौजूद होते है, जो कि शरीर की सुरक्षा करते है और शरीर को मजबूत बनाते है।

हड्डियों को मजबूत बनाए विटामिन D की सहायता से

विटामीन D हमारे अंदर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। विटामिन D की मात्रा शरीर में बढ़ाने के लिए रोज सुबह 10 मिनट सुरज के सामने बैठ जाए। याद रखें, इस दौरान आपके शरीर का 25% भाग खुला हुआ होना चाहिए।

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए करे व्यायाम

हड्डियों की मजबूत बनाने के लिए व्यायाम करना बहुत जरूरी है। हड्डियों के कमजोर होने का कारण शारीरिक मेहनत का नहीं करना भी होता है। रोजाना व्यायाम करने एवं दौड़ लगाने से हड्डियाँ मजबूत होती है। रोज 1 घण्टा व्यायाम जरूर करें।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करें मूंगफली का उपयोग

रात को एक मुट्ठी मूंगफली को बादाम के साथ गलाकर रोज सुबह इसका सेवन करने से हड्डियाँ मजबूत बनती है। मूंगफली के अंदर विटामिन D पाया जाता है, जो कि शरीर के अंदर कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाता है। मूंगफली में विटामिन E और K की भी पाया जाता है। साथ ही इसमें आयरन, कैल्शियम और जिंक जैसे तत्व भी मौजूद होते है, जो कि हड्डियों मे होने वाली समस्याओ को दूर करते है।

इसके साथ ही कुछ अन्य नुस्खें एवं ध्यान रखने योग्य बाते।

हड्डियों के कमजोर होने पर धूम्रपान का सेवन बिल्कुल ना करें। कैल्शियम युक्त आहार को ज्यादा से ज्यादा लेने का प्रयास करें। कैफीन का सेवन बिल्कुल भी ना करे, जैसे;- चाय, कॉफी, चॉकलेट, इत्यादि। टमाटर जूस का सेवन करे, भोजन मे नमक की मात्रा को कम कर दे। रिफाइंड तेल का इस्तेमाल करना छोड़ दे। आहार मे मछली, बन्द गोभी, हरी सब्जी जैसे आहारो को शामिल करें। तनाव जैसी समस्याओं से दूर रहे।

 

अगर आपको ये जानकारी एवं लेख अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें ।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept