सफेद बाल का घरेलू नुस्खे

Grey Hair ~ White Hair Natural Remedies In Hindi

आधुनिक परिवेश में अपने बालों को अधिक-से-अधिक खूबसूरत बनाए रखने के लिए स्त्री-पुरुष तरह-तरह के सौंदर्य-प्रसाधनों का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन विभिन्न रसायनों (केमिकलों) से निर्मित होने के कारण काले बाल अल्प आयु में सफेद होने लगते हैं। सफेद बालों की विकृति से स्त्री-पुरुष अपनी सुंदरता खो देते हैं। अल्प आयु में सफेद बालों की विकृति पलित रोग के कारण होती है।

Why does Grey Hair happens?

Loading...

सफेद बाल क्यों होता है?

उत्पत्ति : चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार सफेद बालों की उत्पत्ति पित्त विकृति के कारण होती है। अधिक उष्ण, मिर्च-मसालों और अम्ल रसों से बने खाद्य पदार्थों के सेवन से शरीर में पित्त की अधिक उत्पत्ति होती है। पित्त के कारण उत्पन्न उष्णता सिर में पहुंचकर बालों को सफेद बनाती है। आधुनिक परिवेश में स्त्री-पुरुष होटल, रेस्तरां में चाउमीन, पिजा आदि फास्ट फूडों का अधिक सेवन करते हैं। नवयुवकों में चाय, कॉफी और दूसरे कोल्ड ड्रिंक का अधिक शौक देखा जाता है। इन सबके कारण भी उदर में अधिक अम्लता होने से बालों को अधिक हानि पहुंचती है।

कुछ स्त्री-पुरुष प्रतिदिन साबुन से सिर धोते हैं। इससे बालों की जडों में अधिक शुष्कता होने से बाल सफेद होने लगते हैं। जुकाम की बार-बार विकृति होने से बालों को अधिक हानि पहुंचती है। कुछ रोगों के कारण भी बालों को हानि पहुंचने पर बाल सफेद होते हैं। आंत्रिक ज्वर के बाद बाल तेजी से टूटते हैं। बुद्धिजीवी व मस्तिष्क का अधिक काम करने वाले व्यक्तियों के बाल भी अल्प आयु में सफेद हो जाते हैं। मानसिक तनाव व गहरी चिंता भी बाल सफेद कर देती है। पौष्टिक व संतुलित भोजन के अभाव में बालों को उचित मात्रा में पोषक तत्त्व नहीं मिल पाते। पौषक तत्त्व नहीं मिलने से बाल जल्दी-जल्दी सफेद होते हैं। धूप में अधिक चलने-फिरने और उष्ण वातावरण में अधिक समय तक काम करने से बाल अल्प आयु में सफेद होते हैं। हस्तमैथुन, अधिक सहवास व स्वप्नदोष की विकृति से बाल सफेद होते हैं।

What are Symptoms of White Hair?

सफेद बाल के लक्षण क्या है?

लक्षण : 25-30 वर्ष की आयु में बालों के बीच सफेद बाल झलकने लगते हैं। फिर तेजी से बाल सफेद होने लगते हैं। कुछ नवयुवकों के सिर में कहीं-कहीं बाल सफेद होते हैं। कुछ स्त्री-पुरुषों के सिर में रूसी व खुजली होती है। ऐसे में बाल तेजी से टूटते हैं और सफेद हो जाते हैं।

What to eat on Grey Hair?

सफेद बाल होने पे क्या खाएं?

  • हरी, पत्ते वाली सब्जियों का अधिक मात्रा में सेवन करें।
  • काजू, पिस्ता, बादाम, अखरोट आदि मेवों का सेवन करें।
  • प्रतिदिन भोजन के साथ सलाद का सेवन करें।
  • गाजर का रस पीने से बालों को बहुत लाभ होता है।
  • नारियल के तेल से सिर में मालिश करें। सिर में नारियल का तेल लगाएं।
  • नारियल खाएं और नारियल का जल पिएं।
  • आंवला, शिकाकाई और रीठा को बराबर मात्रा में कूट-पीसकर रात को जल में डालकर रखें । प्रातः इस मिश्रण को सिर में लगाकर कुछ देर के बाद बालों को धोएं।
  • प्याज का रस बालों की जड़ों में मलने से बालों की सुरक्षा होती है।
  • प्रतिदिन आंवले का मुरब्बा खाकर दूध पिएं।
  • गोखरू और तिल के फूलों को पीसकर, घी मिलाकर सिर पर लगाएं।
  • प्रतिदिन मेथी की सब्जी का सेवन करें।
  • जुकाम के कारण बाल तेजी से सफेद होते हैं। जुकाम को नष्ट करने के लिए काली मिर्च के 7-8 दाने चबाकर खाएं।
  • आंवले और मेहंदी को पीसकर बालों में लगाने से बाल काले बने रहते हैं।
  • तिल के लड्डू बनाकर खाने से बाल सफेद नहीं होते।
  • नींबू का रस प्रतिदिन बालों की जडों में मलने से बाल काले बने रहते हैं।
  • सरसों की सब्जी खाने और सरसों का तेल बालों में लगाने से बाल काले बने रहते हैं।
  • प्रतिदिन के तेल की मालिश करने व का तेल लगाने से लम्बे समय तक बाल सफेद नहीं होते।

What to not eat on White Hair?

सफेद बाल होने पे क्या नहीं खाएं?

  • घी, तेल से बने पकवानों का सेवन न करें।
  • उष्ण मिर्च-मसालों व अम्ल रसों से बने खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।
  • चाय, कॉफी न पिएं।
  • शराब पीने से बालों को बहुत हानि पहुंचती है।
  • सुगंधित तेलों का इस्तेमाल न करें।
  • बालों को धोने के लिए अधिक साबुन का इस्तेमाल न करें।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept