फंगल इन्फेक्शन के घरेलू उपाय (Home remedies for fungal infections)

फंगल इन्फेक्शन के घरेलू उपाय

फंगल इंफेक्शन काफी आम समस्या है जो किसी को भी हो सकती है। इस तरह के इंफेक्शन होने का मुख्य कारण त्वचा में कवक, सुक्ष्मजीव, बैक्टीरिया या त्वचा के संक्रमित होने से होता है, जिसमें खुजली, दर्द एवं सूजन, लाल रंग के दाने होने से खुजली होना, पैर का मोटा होना, नाखूनों का पीला होना, जैसी कई समस्या उत्पन्न होने लग जाती हैं।

फंगल इंफेक्शन और भी बहुत से कारणों की वजह से हो सकता है। जैसे ;- खून की मात्रा में कमी, सफाई का ना होना, गुप्त अंग की सफाई ना करना। किसी दवाई का उल्टा प्रभाव पड़ना या वातावरण में बदलाव के कारण भी फंगल इंफेक्शन हो सकता है।

Loading...

आज की जानकारी में हम आपको बताएँगे की फंगल इंफेक्शन को रोकने के घरेलू उपाय क्या है और उनको इस्तेमाल करने के तरीके कौन-कौन से हैं ?

फंगल इंफेक्शन के इलाज में सेब के सिरके का इस्तेमाल करें

सेब का सिरका फंगल इंफेक्शन को ठीक करने का सबसे बढ़िया घरेलू नुस्खा है। सेब के सिरके के अंदर एंटी-बैक्टीरिया एवं एंटी-माइक्रोबिल गुण मौजूद होते हैं, जो त्वचा को संक्रमित होने से बचाते है। साथ ही सेब के अंदर एक प्राकृतिक एसिड भी पाया जाता है, जो कि फंगल इंफेक्शन को बनने से रोकता है। इसका इस्तेमाल करना काफी आसान है। सबसे पहले एक ग्लास गर्म पानी में 2-3 चम्मच सेब का सिरका और शहद को मिक्स कर ले। फिर इसका सेवन करें।रोज़ाना इसका सेवन करते रहे जब तक फंगल इंफेक्शन से छुटकारा ना मिल जाए।

फंगल इंफेक्शन के इलाज में करें दही का उपयोग

फंगल इंफेक्शन के इलाज के लिए दही का उपयोग करना काफी पुराना घरेलू नुस्ख़ा है। दही के अंदर लेक्टिक एसिड की काफी अधिक मात्रा पायी जाती है, जो कि त्वचा को संक्रमित होने से बचाती है और फंगल को बनने से रोकती है। दही के अंदर प्रोबायोटिक गुण पाए जाते हैं जो कि त्वचा से जुड़ी हर तरह की समस्या को दूर करने के लिए काफी उपयोगी माना जाता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए आप एक कटोरी में दही लेकर इसमें सेब का सिरका मिक्स कर लें और फिर इसका रोज सेवन करें।

फंगल इंफेक्शन के इलाज में करें लहसुन का उपयोग

लहसुन के अंदर एंटी-बैक्टीरियल, एंटीफंगल एवं प्रोबायोटिक गुण लाए जाते है जो कि त्वचा को संक्रमित होने से रोकते है और बैक्टीरिया का नाश करते हैं और फंगल को बनने से रोकते है। लहसुन हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में भी काफी फ़ायदेमंद होता है। एक छोटी सी कटोरी में जैतून के तेल को लेकर उसमें लहसून की 1-2 कलियों को पीस कर डाल दे और उसे हल्का सा गर्म कर लें, उसके बाद अँगुलियों में तेल को लेकर प्रभावित हिस्से में हल्के हाथों से मालिश करें। इस प्रक्रिया को रोज़ाना 2 बार करें, पहला आप सुबह और दूसरा रात को सोते समय, एवं लहसुन को खाने में भी ज्यादा से ज्यादा शामिल करने की कोशिश करें।

फंगल के इलाज में करें टी ट्री तेल का उपयोग

टी ट्री तेल का उपयोग ज्यादातर त्वचा से जुड़े रोगों में किया जाता है। टी ट्री तेल में मौजूद एंटी-बैक्टीरिया एवं एंटीफंगल गुण फंगल को बनने से रोकते हैं और त्वचा को संक्रमित होने से बचाते है। इसका इस्तेमाल करने के लिए जैतून, बादाम और टी ट्री तेल को एक कटोरी में मिक्स करके हल्का सा गर्म कर लें और फिर फंगल वाली जगह पर हल्के हाथों से मालिश करें।

फंगल के इलाज में करें नारियल तेल का उपयोग

नारियल तेल के अंदर एक प्राकृतिक एसिड पाया जाता है, जो कि फंगल से बैक्टीरिया को खत्म करता है और त्वचा को संक्रमित होने से बचाता है। नारियल तेल एवं बादाम तेल को मिक्स कर लें, फिर उस मिश्रण को फंगल वाले स्थान पर हल्के हाथों से मालिश करने से भी काफी फायदा पहुँचता है।

फंगल इंफेक्शन के इलाज में करें ऑरगेनो तेल का उपयोग

ऑरगेनो तेल फंगल इंफेक्शन को मिटाने का सबसे ज्यादा फ़ायदेमंद घरेलु उपाय है। ऑरगेनो तेल के अंदर एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो कि त्वचा में किसी भी प्रकार के संक्रमण को होने से रोकते हैं। ऑरगेनो तेल का इस्तेमाल करने के लिए आप इसकी 5-6 बूंदों को उबले हुए पानी में मिक्स करके भी पी सकते है या फिर ऑरगेनो तेल में जैतून का तेल मिक्स करके हल्के हाथ से फंगल वाले स्थान की मालिश कर सकते हैं।

फंगल इंफेक्शन के इलाज में करें हल्दी का उपयोग

हल्दी के अंदर कई प्रकार के एंटी-बायोटिक, एंटी-फंगल, एंटीसेप्टिक एवं और भी कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो कि त्वचा से जुड़ी हर तरह की समस्या को खत्म करते हैं। हल्दी हमारे शरीर में फंगल बनने से रोकती है तथा बैक्टीरिया को खत्म कर देती है। एक ग्लास गर्म दूध में हल्दी और शहद को मिलाकर पीने से फंगल इंफेक्शन से जल्दी छुटकारा मिलता है।

फंगल इंफेक्शन के इलाज में करें जैतून के पत्ते का उपयोग

जी हाँ, जैतून के पत्ती फंगल इंफेक्शन के इलाज के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपाय है। जैतून की पत्ती के अंदर एंटी- बैक्टीरियल एवं इसके अलावा और भी कई सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो कि फंगल इंफेक्शन की समस्या को जड़ से खत्म करने में बेहद उपयोगी है। जैतून की पत्ती को अच्छे से पीसकर इसका एक बढ़िया पेस्ट तैयार कर ले, फिर इसे फंगल वाले स्थान पर लगाए। इससे आपको फंगल इंफेक्शन से जल्दी छुटकारा मिलता है।

फंगल इंफेक्शन के इलाज में करें क्रैनबेरी का उपयोग

क्रैनबेरी फंगल इंफेक्शन के इलाज के लिए सबसे बढ़िया घरेलू उपाय है। इसके इस्तेमाल के लिए आप रोज सुबह क्रैनबेरी जूस या क्रैनबेरी टैबलेट का इस्तेमाल कर सकते हो, जो कि आसानी से आपके नज़दीकी आयुर्वेद की दुकान पर उपलब्ध है।

 

अगर आपको ये जानकारी एवं लेख अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें ।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept